Republic Day Celebration 2017


Patna Campus

‘Self-governance is my birth right’ but at the same time responsibility comes upon our shoulders to justify the same with our sincere and active involvement in nation building, said Prof. Harish Chandra Singh Rathore, Vice-Chancellor of Central University of South Bihar (CUSB) during his Republic Day celebration at Patna campus. When we gather for celebrating the Republic Day we should remember the famous saying of Lokmanya Bal Gangadhar Tilak, “Swaraj mera janm siddh adhikar hai” (Self-governance is my birth right), which was given a formal shape by adopting the Indian Constitution on 26th January 1950. Lokmanya Titak didn’t say that self-governance is ‘our’ birth right, in fact, he said self-governance is ‘my’ birth right. This literally means that we all citizens of India are equally responsible for nation building and managing its affairs, said Prof. Rathore. However, a common trend and mind-set has developed within us that only the elected governments, establishments and administration is responsible for managing the matters of the country, which is just a way to washing hands from the responsibility as a citizen of India.

It’s not possible to run a big country like India and make it a superpower in world by few elected politicians (leaders) and government establishments, it’s the duty of each and every India to give its contribution as the responsible citizen to fulfil the dream of ‘self-governance’ once seen by Lokmanya Tilak. Sighting a common example Prof. Rathore said that while the youths drive the motorbike on roads and usually they break the safety rules and don’t care about the police, and many times they met with accident and loss their valuable lives and also kill others on road. This is very unfortunate and such things generally happen since we and our youths don’t care for our responsibilities to follow the norms set by the government and administration. While concluding his speech the Vice-Chancellor urged from the gathering specifically to the students that you are the future of the nation. Your role is very crucial in nation building, which is achievable only by following the discipline in life and constructive approach.

Earlier the Republic Day celebration at Patna campus started with guard of honour offered to the Vice-Chancellor followed by the hoisting of national tri-colour. Further the national anthem administered by the Vice-Chancellor was sung by the gathering comprised of CUSB Registrar Dr. Gayathri Vishwanath Patil, Finance Officer Mr. Girish Ranjan, Controller of Examinations Mrs. Rashmi Tripathi, University officials, faculty, students and staff.

Post-speech of Prof. Rathore, the cultural programmes, skits, songs, qawwali, dance, etc. The skit by Ayush Anand & group, ground dance by Akanksha & group, Qawali by Azra & group, and the special mime with the theme ‘youths’ by Zeeshan Yasir and group kept the audience enthralled and engulfed in Republic day fervour. The programme was compared by students Lokesh Ranjan and Priyanka. The winners and best-performers of Annual Sports Competition organised this past week were given the trophies, medals, awards and certificates by the Vice-Chancellor.

The Republic Day ceremony in Patna was organised under the supervision of the Cultural Activities Committee members Dr. Amrita Srivastava, Dr. Ravi Suryavanshi, Dr. Tara Kashav and Dr. Anindya Deb. The vote of thanks was proposed by Cultural Activities Committee Coordinator (I/C) Dr. Amrita Srivastava.

 
 

गणतंत्र दिवस समारोह 2017 - सीयूएसबी गया कैंपस

दक्षिण बिहार केन्द्रीय विश्विद्यालय (सीयूएसबी) के गया कैंपस में 68 वां गणतंत्र दिवस बड़े ही हर्ष व उल्लास के साथ मनाया गया! विवि के जन संपर्क अधिकारी (पीआरओ) मो० मुदस्सीर आलम ने बताया की इस शुभ अवसर पर सीयूएसबी के प्रांगण में माननीय प्रति कुलपति प्रो.ओमप्रकाश राय के द्वारा झंडोत्तोलन किया गया | इस अवसर पर विश्वविद्यालय परिसर में सांस्कृतिक कार्यक्रम का भव्य आयोजन किया गया | झंडोत्तोलन के पश्चात विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए प्रति कुलपति महोदय ने कहा की आज का भारत आत्मनिर्भरता की और बढ़ता हुआ भारत है | आज हमारे देश ने विज्ञान और तकनीक के क्षेत्र में बहुत उन्नति की है | उन्होंने युवाओं से अपील की कि युवा ही देश को मजबूत और विकसित बना सकते हैं | छात्रों से कहा कि सफलता के पीछे असफलता का ही योग होता है इसलिए कभी भी असफलता से नहीं घबराना चाहिए | उन्होंने होंडा कंपनी की कहानी बताते हुए कहा कि आज होंडा कंपनी ऑटोमोबाइल के क्षेत्र में दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी है लेकिन इसकी शुरुआत के पीछे उसके मालिक के लगतार असफल होने की ही कहानी रही है |

प्रति कुलपति महोदय के सन्देश के पूर्व छात्राओं ने 'महिला सशक्तिकरण' पर आधारित ह्यूमन पिरामिड के द्वारा झंडे को सलामी दी | इस अवसर पर छात्र-छात्राओं ने देशभक्ति पर आधारित गीत, नृत्य, नाटक इत्यादि सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये | इसके लिए विश्वविद्यालय में पहले ही प्रतियोगितोओं का आयोजन किया गया था | इस प्रतियोगिता में एकल गीत के लिए सुभाजित सरकार को प्रथम पुरस्कार, चंदन चन्दनप्रिय को द्वितीय पुरस्कार, कुमार किशन को तृतीय पुरस्कार, समूह गीत के लिए सादमा, सिन्धुजा ग्रुप को प्रथम पुरस्कार, एकल नृत्य के लिए ईशा आनंद को प्रथम पुरस्कार, समूह नृत्य के लिए अभिनन्दन एन्ड ग्रुप को प्रथम पुरस्कार, भाषण प्रतियोगिता में हिंदी के लिए मनीष कुमार को एवं अंग्रेजी में दीक्षा को प्रथम पुरस्कार और नुक्कड़ नाटक में प्रिंस एन्ड ग्रुप को प्रथम पुरस्कार, अभिनंदन एन्ड ग्रुप को द्वितीय पुरस्कार मिला | पुरस्कार वितरण माननीय प्रति कुलपति के कर कमलों द्वारा संपन्न हुआ | कार्यक्रम में धन्यवाद ज्ञापन सांस्कृतिक समिति के समन्वयक डॉ. अनिल सिंह झा ने किया | कार्यक्रम का सञ्चालन जयश्री एवं दीपशिखा ने किया | 68 वें गणतंत्र दिवस की साक्षी बनने के लिए बड़ी संख्या में विश्वविद्यालय के अध्यापक एवं विद्यार्थी मौजूद थे |

गया की तरह पटना कैंपस में भी गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजन किया गया और इस अवसर पर कुलपति प्रोफेसर हरीशचंद्र सिंह राठौर ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया! अपने भाषण में कुलपति ने लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक के द्वारा दिए के स्वराज के नारे पर बल दिया और कहा कि 'स्वराज' का मतलब मेरा राज यानि देश को चलाने में हर एक नागरिक की सहभागिता महत्वपूर्ण है! इसके पश्चात विवि के सांस्कृतिक गतिविधि समिति के सदस्यों डॉ० अमृता श्रीवास्तव, डॉ० रवि सूर्यवंशी एवं डॉ० तारा कशव की अगुवाई में छात्रों तथा छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये! इस अवसर पर कुलपति के साथ - साथ, कुलसचिव डॉ० गायत्री विश्वनाथ पाटिल, वित् पदाधिकारी श्री गिरीश रंजन, परीक्षा नियंत्रक श्रीमती रश्मि त्रिपाठी के साथ - साथ प्राध्यापकगण, अधिकारी, विद्यार्थीगण एवं कर्मचारी मौजूद थे!

 
   
 

Campus


SH-7, Gaya Panchanpur Road, Village – Karhara, Post. Fatehpur, Gaya – 824236 (Bihar)

Contact


Reception: 0631 - 2229 530
Admission: 0631 - 2229 514 / 518
                        - 9472979367

 

Connect with us

We're on Social Networks. Follow us & get in touch.

Visitor Hit Counter :

20020792 Views

Search